Route Diversion : गाजियाबाद में दूधेश्वरनाथ मंदिर की ओर जाने वाले मार्ग पर भारी वाहन रहेंगे प्रतिबंधित 

WhatsApp Group Join Now
diversion
diversion

महाशिवरात्रि के अवसर पर दूधेश्वरनाथ मंदिर में पर उमड़ेगा जन सैलाब

श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मदृदेनजर रूट किया गया डायवर्ट

News24yard Ghaziabad। Route Diversion भगवान शिव के हर मंदिर की अपनी मान्यता है। गाजियाबाद में भी भगवान शिव का एक मंदिर स्थित है। मंदिर के संबंध में अनेक मान्यताएं हैं। इसे श्री दूधेश्वर नाथ मंदिर के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर में भोलेनाथ के दर्शन करने से हर कष्ट दूर होते हैं। सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी गाजियाबाद में 8 मार्च को महाशिवरात्रि के मौके पर दूधेश्वरनाथ मंदिर पर भीड़ रहने की संभावना र्है। जिस कारण मंदिर की ओर जाने वाले भारी वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। जनमानस के समय और परेशानियों को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने यातायात का रूट डायवर्जन करने का निर्णय लिया है।

गाय ने की थी शिवलिंग की खोज

मान्यता है कि भगवान शिव का मंदिर वहां स्थित है जहां कई साल पहले एक गाय अपना दूध गिरा देती थी। काफी लंबे समय तक ऐसा होने पर गाय के मालिक ने उस गाय पर नजर रखी। फिर उसने देखा कि उस स्थान में गायों के पहुंचते ही दूध की धार बंध जाती है। यह पूरा किस्सा ग्वाले से गांव वालों को आकर बताया। जिसके बाद गाय के सभी लोग उस स्थान में पहुंच रहे थे। वहीं दूसरी ओर कोट नामक गांव में उच्चकोटि के दसनामी जूना अखाड़े के एक सन्यासी सिद्ध महात्मा को भगवान शिव ने स्वप्न में दर्शन दिए और उस स्थान पर पहुंचने का आदेश दिया। प्रातः इधर गाँव वाले लोग पहुंचे और दूसरी तरफ से महात्मा अपने शिष्यों के साथ इस पावन स्थल पर पहुंच गए। इसके बाद खुदाई शुरू की गई। खुदाई के बाद शिवलिंग नजर आएं। इसके बाद उनकी वहां स्थापना करके पूजा की जाने लगी।

विज्ञापन
Slide
Slide
Slide
Slide
previous arrow
next arrow

 

दूधेश्वरनाथ मंदिर
दूधेश्वरनाथ मंदिर

मंदिर पर दर्शन करेंगे लाखों श्रद्धालु

दूधेश्वरनाथ मंदिर की विशेष मान्यता है। जिस कारण महाशिव रात्रि पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु मंदिर में भगवान के दर्शन करने आते हैं। अधिकारियों का मानना है कि 8 मार्च को महाशिवरात्रि के मौके पर श्रद्धालुओं की दूधेश्वरनाथ मंदिर में काफी भीड़ रहेगी। जनमानस के समय और परेशानियों को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने यातायात का Route Diversion करने का निर्णय लिया है।

ऐसे रहेगा डायवर्जन Route Diversion

बृहस्पतिवार सुबह से शुक्रवार तक गऊशाला फाटक पर दूधेश्वरनाथ मंदिर की ओर जाने वाले सभी वाहनों पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। एडीसीपी यातायात विरेंद्र कुमार ने बताया कि शाम को चार बजे से लालकुंआ से मोहननगर की तरफ जाने वाले भारी वाहनों को विवेकानंद नगर फ्लाईओवर से होकर हापुड़ चुंगी व राजनगर एक्सटेंशन से होकर निकलना होगा। ऐसे ही मोहननगर की ओर से आने वाले भारी वाहनों को राजनगर एक्सटेंशन से होकर इसी रूट से गुजरना होगा। हापुड़ चुंगी से कोई भी भारी वाहन शहर की तरफ नहीं आ सकेगा। हापुड़ तिराहा पुल के नीचे पुराना बस अडडा होकर घंटाघर की तरफ छोटे वाहनों पर भी प्रतिबंध रहेगा। यह वाहन हापुड़ तिराहा से पुराना बस अडडा आंबेडकर रोड होते हुए चौधरी मोड से अपने गंतव्य तक जा सकेंगे।

सहायता को इन नंबरों पर करें कॉल

9643322904
0120.2986100

 

WhatsApp Group Join Now