baghpat News : अचानक मर गई तालाब की लाखों मछलियां

WhatsApp Group Join Now

अचानक मर गई तालाब की लाखों मछलियां

अचानक मर गई तालाब की लाखों मछलियां
अचानक मर गई तालाब की लाखों मछलियां

ठेकेदार बोले गर्मी व आक्सीजन की कमी से हुई मछलियों की मौत

New24yard 

प्रदीप पांचाल, बागपत जिले के रटौल गांव स्थित एक तालाब की लाखों मछलियां अचानक मर गई। मछली पालक की माने तो गर्मी और आक्सीजन की कमी से मछलियों की मौत हुई है। वहीं लोगों ने तालाब में दषित पानी आने से मछलियों के मरने की आशंका जताई है।

विज्ञापन
Slide
Slide
Slide
Slide
previous arrow
next arrow

रटौल-सिगोली मार्ग पर एक तालाब है। इस तालाब में मछली पालक किया जाता है। लंबे समय से रटौल नगर पचायत इस तालाब का ठेका छोड़ता आ रहा है। इस वर्ष तालाब का ठेका रटौल निवासी मुजीब और राशिद पर है। दोनों तालाब में मछली पालन का कार्य कर रहे हैं। शुक्रवार को तालाब की लाखों मछलियां मर कर उपर आ गईं। लोगों ने मछलियों के मारने की जानकारी मुजीब और राशिद को दी। जानकारी मिलने पर वह मौके पर पहुंचे। मुजीब ने बताया कि तालाब में चार माह पूर्व ही मछली के बच्चे छोड़े थे। अब बचचे बड़े हो गए थे। पिछले कुछ दिनों में गर्मी अधिक हो पड़ रही है। जिसके चलते तालाब में आक्सीजन की कमी हो गई है। पानी में आक्सीजन की कमी से मछलियां मरने के बाद तालाब किनारे एकत्र हो गई हैं। उन्होंने बताया कि मछलियों के मरने से उन्हें करीब दो लाख रुपये का नुकसान है।

दुर्गंध से लोग परेशान

मछलियां मरने के बाद तालाब किनारे एकत्र हो गई हैं। मछलियों के मरने से दुर्गंध फैल रही है। जिससे तालाब किनारे रहने वाले लोगों का जीना मुहाल हो गया है। मछली पालन करने वाले तालाब का पानी बदलने व आक्सीजन बढाने की दवाईयां डालने मे जुटे हैं।

WhatsApp Group Join Now